What is Capacitor | Capacitor कैसे काम करता है | How Capacitor Works | Types of Capacitor | Electrolytic capacitor | Ceramic capacitor | Electronic components |

Capacitor क्या है ?

दोस्तों क्या अपने कभी Capacitor के बारे में सुना है अगर नही तो आज मैं आपको इसी के बारे में बताने वाला हूँ 
दोस्तों वैसे तो capacitor का use काफी सारी जगह पर किया जाता है

 जैसे कि Television में, radio में या कई तरह के electronic devices में अगर हमें Camera से photo click करते time Flash को चालू करना है या फिर किसी TV में channel को flick करना हो या फिर किसी Oscillator circuit में इन सारी जगहों पर capacitor का use किया जाता है ? What is Capacitor | 


                                                  

Capacitors जिन्हें कि condensar भी कहा जाता है एक ऐसे passive electronic component होते हैं जिनका use करने का main कारण Electric energy को store करना होता है हर capacitor में कुछ metal कि plates होती हैं और ये plates एक स्पेशल type के insulator से separate होती हैं इस insulator को dielectric कहते हैं 

वैसे तो हर तरह के capacitor को बनाने में basic material तो same ही होता है जैसे कि metal plates और insulator और हम अलग-अलग तरह के capacitors को बनाने के लिए अलग- अलग तरह का material use करते हैं और इसी के आधार पर capacitors को अलग – अलग category में divide किया जाता है ?

वैसे तो जो capacitor का basic use हैं वो होता है AC current को allow करने के लिए और DC current को block करने के लिए और Smooth DC power supply पाने के लिए और इसी के basis पर capacitor को हर circuit में जरोरत के according use किया जाता है ?


Capacitor कैसे काम करता है ?

वैसे तो हर capacitor एक metal से और insulator से बना होता है तो यहाँ पर समझने के लिए simply parallel plate capacitor को लेते हैं ?

                                                      

इस capacitor में simply दो metal plates बीच में एक insulator के साथ attached है और capacitor की एक plate battery के positive terminal के साथ और दूसरी plate negative terminal के साथ connect है तो अब क्या होगा

 capacitor की plate जो battery के positive terminal के साथ connnect है उसमे से कुछ electron battery के (+) terminal से attached हो जायेंगे और दूसरी plate जो battery के negative terminal के साथ connect है उसमे जो electron हैं वो कुछ बढ़ जायेंगे तो इसी तरह से capacitor की जो दोनों plates हैं उनमे एक plate में electrons बढ़ गए और जो दूसरी plate हैं उसमे electrons कम हो गए,


तो इसी तरह से जो दोनों plates हैं वो charge हो गईं और इसी process को हम बोलते हैं “charging of capacitor” और इसी capacitor को अगर हम किसी Load के साथ connect कर दे या फिर capacitor की दोनों Pins को short कर दे तो ये capacitor पूरी तरह से discharge हो जायेगा इसी process को हम बोलते हैं “discharging of capacitor”. 
और इसी को कहते हैं की capacitor Electrical energy को store करता है?

                                                         

तो इसी तरह से capacitors circuit में काम करते हैं वो circuit में बार – बार charge और discharge होते रहते हैं?

What is Capacitor | 


Capacitor के Types :


वैसे तो capacitor बहुत तरह के होते हैं और उन सभी को Application के According use किया जाता है 
तो mainly capacitors को दो तरह से classified किया जाता है : 

1 ) Fixed Type Capacitors
2 ) Variable Type Capacitor

1 ) Fixed Type Capacitors : वो capacitors जिनकी value fixed होती है उनको change नही कर सकते बस थोड़ा-बहुत tolerance होता है ? वैसे तो fixed type capacitor भी कई तरह के होते हैं जैसे कि : 

a ) Paper capacitor : Paper capacitor एक बहुत ही basic सा capacitor है जिसका use आज के time में बहुत कम होता है इस capacitor में दो metal ( aluminum or tin ) की foils एक insulated paper के साथ attached होती हैं, 


और इनको roll करके एक cylinder कि तरह मोड़ कर ऊपर से कुछ insulator जैसे कि plastic या wax से बंद कर दिया जाता है, इन capacitor की rating 0.0001 microfarad से लेकर 0.1 microfarad तक होती है? 

                                                        

b) Silver Mica Capacitor : Mica capacitor एक time काफी popular हुआ करता था लेकिन आज के समय में इसका use बहुत कम किया जाता है इस capacitor का नाम Mica capacitor इसीलिए होता है क्योंकि इसमें metal plates के बीच जो dielectric use होता है वो Mica होता है
 इस capacitor में दो metal ( aluminum, tin या silver ) की foils एक mica ( insulator ) के साथ attached होती हैं और बाहर से कुछ bakelite material से enclosed होती है,mica capacitors 50 pf से लेकर केवल 1000 pf तक ही आते हैं ?

                                                           

c) Ceramic Capacitor : Ceramic एक dielectric material होता है जो कि धरती में पाया जाता है, इन capacitors में दो metal ( silver या copper ) की plates ceramic dielectric के साथ में attached होती हैं और बाहर से कुछ plastic की coating से cover कर रखा होता है, Ceramic capacitor का use आज भी बहुत ज्यादा किया जाता है क्योंकि ये cheap or relaible होते हैं? 

                       

d) Electrolytic Capacitor : Electrolytic capacitor आज के समय में भी काफी popular है, और ये आपको लगभग हर circuit में देखने के लिए मिल जायेंगे ये capacitors अक्सर polarized होते और ये काफी high capacitance value provide कर सकते हैं ?
ये capacitors ज्यादातर low frequency application के लिए use किये जाते हैं, जैसे कि power supply filteration, Audio coupling जहाँ पर low frequency application हो इन capacitors की value लगभग 1 microfarad से लेकर 10000 microfarad तक हो सकती है ?

                                                    

e) Polyester Film Capacitor : इस capacitor में dielectric के तौर पर thermoplastic polymer का use किया जाता है ये capacitors भी high rating provide कर सकते हैं इनका use circuit में ज्यादातर Tolerance को देखते हुए किया जाता है ? 

                                                                    

f) Glass Type Capacitor : जैसा कि हमें नाम से ही पता चल रहा है कि इस capacitor में dielectric के तौर पर glass का use किया गया है इन capacitors को ज्यादातर RF circuit में use किया जाता है?

                         

2 ) Variable Type Capacitor : वो capacitors जिनकी value को change किया जा सकता है Variable Capacitors का use वहां किया जाता है जिस circuit में frequency को change किया जाता है, कुछ जरोरत के according जैसे कि Tuning circuit में ?  

a) Air Gang Capacitor : Air Gang capacitor को पहले के time के Radios में tuning के लिए use किया जाता था, इसके अन्दर 2 parallel circular plates होती हैं, जिनमे से एक plate को manullay एक knob की मदद से घुमाया जा सकता है और इसी rotation के कारण दोनों plates के बीच के दूरी कम या ज्यादा होती है, जिसके कारण capacitance change होता है, इस capacitor को Air Gang इसीलिए बोला जाता है क्योंकि इसमें Air को as a dielectric use किया जाता है ?

                                                         

b) Trimmer Capacitor : Trimmer capacitor इनको Padder भी बोला जाता है, ये बहुत ही या हम कह सकते कि अलग तरह के capacitors होते जो बहुत ही special purpose के लिए design किये जाते हैं, जैसा कि जो normally जो variable capacitors होते हैं उनकी value को तो बार-बार vary कर सकते हैं लेकिन इन capacitors कि value को manufacuring के time ही set कर दिया जाता है,


और इनका use ऐसे circuit में किया जाता है जहाँ पर capacitance को vary करना frequent नही होता, बस एक बार इनकी value को set कर दिया circuit से match करा दिया, इन capacitors के अन्दर 2 metal कि plates mica या ceramic के साथ separated होती हैं और plates में spring Tension होता है और दोनों plates को एक screw  की मदद से जोड़ रखा होता है जिससे कि कभी भी capacitance को vary करना हो तो आसानी से किया जा सके ?

                                                               

Capacitance क्या है ?


  कोई capacitor कितने amount में electric charge या electrical energy को स्टोर कर सकता है, उसे capacitance कहते है capacitor का capacitance एक किसी बर्तन में भरे पानी की तरह होता मतलब जितना बड़ा बर्तन होगा उसमे उतना ही ज्यादा पानी आएगा ठीक इसी तरह से जितना बड़ा capacitor होगा उतना ही ज्यादा उसका capacitance होगा ?

Capacitor का Capacitance किस पर निर्भर करता है ?


किसी भी capacitor का capacitance इन 3 चीज़ो पर निर्भर करता है ?

a) Surface Area : जितनी बड़ी capacitors की plates का area होगा उतना ही ज्यादा उस capacitor का capacitance होगा ?


b) Distance : यानि इसका मतलब conductive plates के बीच की दूरी जितनी कम होगी उतना ही ज्यादा capacitance होगा ?


c) Dielectric Material : इसका मतलब किस type का हम dielectric material use कर रहे है, तो इस dielectric की जितनी ज्यादा permitivity होगी उतना ही ज्यादा capacitance होगा ?

Voltage, Charge और Capacitance में Relation ?

 Voltage, Charge और Capacitance में क्या relation है इसको एक formule कि मदद से देखते हैं 
                     
                      q = CV 
यहाँ पर ‘q‘ का मतलब है charge; 
और ‘C’ का मतलब है capacitance;
और ‘V’ का मतलब है voltage;


Capacitance को कैसे Measure किया जाता है ?


Capacitance को Farad (F) में measure किया जाता है, लेकिन Farad बहुत बड़ी unit हो जाती है तो इसको हम कुछ Fraction of farad में measure किया जाता है जैसे कि :

  • Microfarad (µF ) 1µF  = 1/1000,000 = 0.00,0001 F
  • Nanofarad (nF) 1 nF = 1/1000,000,000 = 0.00,000,000 F
  • Picofarad (pF) 1 pF = 1/1000,000,000,000 = 0.00,000,000,000 F

Capacitors का क्या use होता है ?

capacitor के बारे में तो हम ने बहुत कुछ जान लिया लेकिन अब थोड़ा सा जान लेते हैं कि capacitor का actually क्या use है :

1) Capacitor का use charge को store करने के लिए होता है जिससे कि डिजिटल cameras में flash को On किया जाता है और एकदम ही Off किया जाता है ?
2) Capacitor का use DC current को block करने तथा AC current को Allow करने के लिए किया जाता है ?
3) Capacitors का use Ripples को हटाने के लिए किया जाता है, अगर एक line है और उसमे DC current flow हो रहा है और उस current में Ripples या spikes हैं तब एक बड़े capacitor का use करके इन ripples को हटाया जा सकता है ?
4) Capacitor का use Multi-stage Amplifier में एक Amplifier को दूसरे Amplifier से जोड़ने के लिए RC coupling के तौर पर किया जाता है ?

 

 तो हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा Capacitors के बारे में दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी अगर आपको यह Blog Post आई तो आप इसको like करिए और आप हमारे youtube channel पर जाना चाहते हैं तो निचे दिए गए link पर आप click करिए हमारे youtube channel पर भी आपको इसी तरह कि Informative Videos मिल जायेंगे इस Blog Post को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!!


                                                       Youtube channel link :  

 



Leave a Comment

Your email address will not be published.